FitYog

लो बीपी के लक्षणों को नजरअंदाज करने के भूल ना करे | low bp symptoms in hindi |

निम्न रक्तचाप (Low blood pressure) एक छुपी हुई बिमारी है। छुपी हुई इसलिए क्योंकि इसके प्रभाव कुछ लोगों पर असर डालते है और कुछ पर नही | पर इसे नज़रंदाज़ करना बहुत ही नुकसानदायक हो सकता है।

एक स्वस्थ व्यक्ति का रक्तचाप (blood pressure) 120/80 mm/hg तक होता है पर जब रक्तचाप (blood pressure)  90/60 mm/hg से कम होता है तो इसे निम्न रक्तचाप (bp low) या हाइपोटेंशन रोग़ कहते है।

इस स्थिति मे ह्रदय (Heart) की कार्य क्षमता कम हो जाती है जिसकी वजह से मस्तिष्क और शरीर के अन्य भागों मे रक्त (blood) की सप्लाई सुचारू रूप से नहीं हो पातीं है। जिससे शरीर मे कमजोरी आती है और मस्तिष्क के दिशा-निर्देश को समझने मे शरीर के अंगों बहुत अधिक समय लगता है।

लो ब्लड प्रेशर के प्रकार (low bp type in hindi)

निम्नरक्तचाप मुख्यतया 3 प्रकार को होता है और इसके शरीर पर प्रभाव भी अलग-अलग होता है।

सामन्यता निम्न रक्तचाप (low bp) के लक्षण रोग़ होने के बहुत समय बाद दिखते है पर अगर शुरुआत मे ही इन low bp ke lakshan पर गौर किया जाये तो निम्न रक्तचाप का इलाज़ (bp low treatment in hindi) कम समय मे और प्रभावी रूप से किया जा सकता है। दोस्तों, आईए निम्न रक्तचाप के लक्षण पर विस्तार से चर्चा करते है।

निम्न रक्तचाप के लक्षण (low bp symptoms in hindi):-

इस प्रकार इन सभी निम्न रक्तचाप के लक्षणों (low bp symptoms in hindi) को समय रहते पता कर इसके होने के कारणों को पर लगाम लगा सकते है।

निम्न रक्तचाप होने के कारण (Low bp reason in hindi):-

लो बीपी का इलाज (bp low treatment in hindi):-

बीपी लो में क्या क्या खाना चाहिए (bp low ho to kya khana chahiye) :-

दोस्तों, आशा करते है की इस ब्लॉग मे आपको low bp के बारे मे विस्तार से जानकारी प्राप्त हुई | कोशिश करे की अपनी जीवनशैली मे योग और उचित खानपान को शामिल करे और किसी भी रोग़ के लक्षण दिखते ही डॉक्टर की सलाह पर उसका उपचार शुरू करे |

बेहतर स्वास्थ्य जानकारी के लिए निम्नलिखित हेल्थ ब्लॉग को पढ़ना ना भूले पढ़े!

  1. शुगर तुरंत कम करने के उपाय
  2. टेंशन दूर करने का मंत्र

ब्लॉग राइटर :- अनिल रमोला

Exit mobile version