शुगर के लक्षणों को अनदेखा करने की भूल ना करे ! ब्लड शुगर लेवल को तुरन्त पेशाब मे हो रहे बदलावों से पहचाने |

दोस्तो ,आज के समय मे हम हर दिन किसी ना किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझते हुए नज़र आते है। और इसका सबसे बड़ा कारण डायबिटीज रोग़ है। डायबिटीज रोग़ को शुगर और मधुमेह रोग़ के नाम से भी जाना जाता है। सिर्फ India मे ही करीब 7 करोड़ लोग डायबिटीज की समस्या से ग्रसित है। जो की कुल जनसंख्या का करीब 5.5% है।

डायबिटीज/शुगर के लक्षण सभी आयु वर्ग मे देखने को मिल रहे है अब वो चाहे 10 वर्ष का बालक/बालिका हो या 70 वर्ष का बुढ़ा | लेकिन समय रहते डायबिटीज को कंट्रोल और ठीक किया जा सकता है। तो आईए मधुमेह/शुगर को अच्छे से समझने की एक सफ़ल कोशिश करते है।

Table Content (विषय सूची):-

  1. डायबिटीज क्या है? (Diabetes in hindi):-

हम जो भी भोजन खाते है उससे हमारे शरीर की कोशिकाओं को ऊर्जा मिलती है। और ये ऊर्जा हमे ग्लूकोज या शर्करा के रूप मे मिलती है। इस ग्लूकोज को हमारा ब्लड/रक्त  शरीर के सभी भागों मे ऊर्जा के रूप मे पहुंचाता है। अगर ग्लूकोज की मात्रा ब्लड/रक्त मे ज्यादा है तो ग्लूकोज पूरी तरह से ऊर्जा मे नहीं बदल पता और ग्लूकोज की अधिकतर मात्रा ब्लड/रक्त मे ही रह जाती है। जिससे ब्लड गाढ़ा हो जाता है। इस समस्या को डायबिटीज कहते है।

एक स्वस्थ मनुष्य का ब्लड शुगर खाली पेट 70 से 100 मिलीग्राम/डेसीलीटर और खाना खाने के बाद 140 मिलीग्राम/डेसीलीटर तक होता है। ब्लड शुगर ग्लूकोमीटर से घर पर ही आसानी से चेक कर सकते है।

  1. डायबिटीज/शुगर होने के कारण (Sugar kaise hota hai):-

  • ब्लड मे शुगर की मात्रा इंसुलिन हार्मोन नियंत्रित करता है और इस इंसुलिन हार्मोन का स्त्राव पैंक्रियाज (अग्नाशय) से होता है। अगर इंसुलिन हार्मोन का स्त्राव कम या बंद हो जाता है तो ब्लड मे शुगर की मात्रा अनियंत्रित हो जाती है जिससे डायबिटीज/शुगर रोग़ हो जाता है। इसे मधुमेह भी कहा जाता है।
  • इसके अलाव अत्यधिक मोटापा, अनियंत्रित दिनचर्या ,अनियंत्रित खानपान और व्यायाम ना करने से पैंक्रियाज (अग्नाशय) पर बुरा प्रभाव पड़ता है। जिसकी वजह से पैंक्रियाज (अग्नाशय) की कार्यकुशलता कम हो जाती है और इंसुलिन हार्मोन का स्त्राव होना कम या बंद हो जाता है।मोटापा शुगर के लक्षण
  • डायबिटीज/शुगर होने का कारण आनुवांशिक भी होता है। माता-पिता से बच्चों मे डायबिटीज/मधुमेह रोग़ अनुवांशिक ट्रान्सफर भी होता है।
  • गर्भावस्था मे शरीरिक और हार्मोनिक बदलाव भी Gestational डायबिटीज/शुगर होने के कारण है।
  • पर्याप्त नींद ना लेना भी डायबिटीज/ शुगर होने के कारण है।
  1. डायबिटीज/शुगर के लक्षण (Diabetes symptoms in hindi):-

शुगर/डायबिटीज के लक्षण दिखना इस बात पर निर्भर करता है के डायबिटीज का टाइप क्या है ? अगर डायबिटीज/मधुमेह टाइप 1 है तो लक्षण अचानक और जल्दी से दिखते है और अगर डायबिटीज/मधुमेह टाइप 2 है तो लक्षण धीरे-धीरे सामने आते है। आईए शुगर के लक्षणों को समझते है।

  • शरीर का वजन एकदम से बढ़ना या कम होना शुरू हो जाता है।
  • बार-बार ज़ोर से भूख लगती है चाहे कुछ देर पहले ही खाना खाया हो |
  • अत्यधिक थकान महसूस होती है।
  • बहुत ज्यादा प्यास लगती है।
  • हाथों / पैरों में झुनझुनी, दर्द या सुन्नता होती है।
  • शरीर की चोट या घाव नहीं भरते है।
  • नज़र धुंधली हो जाती है।
  • शरीर के रोग़-प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है जिसकी वजह ओर कई तरह के रोग़ शरीर मे होने शुरू हो जाते है।
  • पेशाब करने मे अत्यधिक बदलाव आता है जिसकी विस्तार से चर्चा पेशाब मे शुगर के लक्षण वाले बिंदु मे की गई है।
  1. यूरिन/पेशाब में शुगर के लक्षण (Urine sugar ke lakshan):-

डायबिटीज होने का लक्षण सबसे पहले पेशाब मे दिखते है। लेकिन अक्सर हम जानकारी के अभाव मे पेशाब/यूरिन में शुगर के लक्षण को अनदेखा कर देते है। तो आईए आज इन सभी शुगर/मधुमेह के लक्षणों को शुरुआत मे ही समझने का सफल प्रयास करते है।

  • पेशाब आने का क्रम बढ़ जाता है। जो की लगभग दिनभर मे 12 से, 15 बार या उससे ज्यादा हो जाता है।
  • पेशाब रुक-रुक कर आती है और एक बार मे पूरी नहीं आती है।
  • पेशाब/यूरिन अचानक से तेज़ प्रेशर के साथ आती है। जो की कई बार टॉयलेट तक जाने से पहले ही कपड़ो मे कुछ मात्रा मे हो जाती है। और इसका एहसास भी नहीं होता है।
  • पेशाब से बदबू आती है और यूरिन का रंग भी धुंधला या मटमैला सा होता है।
  • यूरिन करने के बाद टॉयलेट मे चींटियाँ लग जाती है। क्योंकि पेशाब मे शर्करा की मात्रा ज्यादा होती है।
  • यूरिन करते समय मूत्राशय मे जलन महसूस होती है।

इस तरह डायबिटीज या शुगर को हमे बड़ी गंभीरता से लेना होगा और समय रहते इसका उचित उपचार और निदान करने के लिए तुरंत एक अच्छे Diabitic expert डॉक्टर से कंसल्ट करना  होगा और अपनी जीवनशैली को नियमित और योग और व्यायाम को दैनिक दिनचर्या मे शामिल करना होगा |

Related Post :-

  1. सुबह जल्दी कैसे उठे
  2. पेट और कमर की चर्बी कम करने के उपाय

दोस्तों, फिर जल्दी ही मिलते है एक नये विचार और नयी सोच की चर्चा के साथ, तब तक योग और स्वास्थ्य के लिए हमारे Facebook Page के साथ बने रहे |

धन्यवाद |

Blog Writer:- Anil Ramola

1 thought on “शुगर के लक्षणों को अनदेखा करने की भूल ना करे ! ब्लड शुगर लेवल को तुरन्त पेशाब मे हो रहे बदलावों से पहचाने |

  • Pingback: All You Need To Know About Raw Green Beans

Leave a Reply

Your email address will not be published.