Yoga for Weight Loss In Hindi – योग द्वारा मोटापा कम करे |

दोस्तो मोटापा एक बहुत बड़ी समस्या है | आज के समय मे बच्चा ,बूढ़ा,जवान हर कोई इस समस्या से जूझ रहा है | और महिलाओं को तो बहुत शीघ्र ही मोटापे की समस्या का सामना करना पड़ता है | अनियमित दिनचर्या और ओवर डाईटिंग इस का सबसे बड़ा कारण है | मोटापे की वजह से शरीर थुलथुला  हो जाता है | जिसके कारण  व्यक्ति भागदौड़ नहीं कर पाता व चलने में भी परेशानी होती है।

इस समस्या का एक ही समाधान  योगा (Yoga) और संतुलित भोजन (Balanced Diet) है | तो आइए देखते किस तरह Yog द्वारा Weight loss किया जाता है | योग आपको शारीरिक व मानसिक दोनों तरह से फिट रखता है।

महत्वपूर्ण टिप्स :-

A. खान पान और योग क्रिया के बीच मे संतुलन अत्यंत आवश्यक है | आप अपनी diet मे उतनी ही कैलोरी का भोजन ले जितना आप burn कर सके | और ये आप के दिन भर के काम पर depend करता है |                                                                                                

B. सुबह जल्दी उठे और बैगर कुला किये हुये 1 से 2 लीटर पानी पिये | और फिर fresh ( शौच ) होने जाए | आप का पेट बिल्कुल साफ़   जाएगा और आप बिल्कुल तरोताज़ा महसूस करेंगे |                                                                                                                                    

C. खाना खाने के तुरन्त बाद पानी ना पिये | क्योंकि भोजन के तुरन्त बाद पानी पीने से Digestion system धीरे काम करता है और हमारे भोजन का पाचन नहीं होता है | जो की मोटापा बढ़ाता है |

Yoga Asana for Weight Loss in Hindi:-

योग के नित्य अभ्यास से हम बहुत शीघ्र ही मोटापे को हमेशा के लिये दूर कर सकते है | तो आइये 3 प्रकार के योग आसन द्वारा मोटापा कम करे |

1.कपालभाती प्राणायाम (Kapalbhati Prayanam in Hindi) :-

    कपालभाती करने की विधि :-

इस प्राणायाम को करने की लिए एक स्वच्छ ,शान्त और खुले वातावरण का चयन करे | इस प्राणायाम को सुबह खाली पेट करे | अब सुखासन (सामन्य मुद्रा ) की स्थिति मे बैठ जाये | अब अपने दोनों हाथों को दोनों पैरो के घुटनों पर ध्यान मुद्रा मे रखे | अपनी कमर को सीधा कर ले और अपनी दोनों आंखे बंद कर ले | अब श्वांस छोड़ें और पेट को अन्दर करे | आपका पेट श्वांस छोड़ने की वजह से अन्दर जाना चाहिए | फिर से इस क्रिया को दोहराना है | हमे सिर्फ श्वांस को छोडना है श्वांस अन्दर नहीं लेनी है | श्वांस स्वत ही अन्दर जाती है | इस प्रकार शुरू मे इस प्राणायाम को 2 minute करना है और निरंतर अभ्यास करते हुये समय को 15 minute तक ले जाना है|Image source : http://www.newscrab.com

इस प्राणयाम को करने की विधि को आप हमारे इस  youtube video मे देख सकते है |

 

कपालभाती प्राणायाम करने के लाभ :-

पेट की extra चर्बी को तुरन्त कम करता है | शरीर का वजन कम होता है | कब्ज़ ,पेट दर्द,एसिडिटी ,खट्टी डकार और अन्य प्रकार की सभी पेट के रोग कपालभाती करने से हमेशा के लिए खत्म हो जाती है |

कुछ जरुरी सावधानिया :-

A. कपालभाती प्राणायाम हमेशा खाली पेट सुबह के समय करना चाहिए                                                                                                        

B. गर्भवती महिलाओं ओर अल्सर से पीडित लोगों को कपालभाती प्राणायाम नहीं करना चाहिए |                                                                  

C. HIGH और LOW BP की समस्या वालो को डॉक्टर की सलाह के बाद ही इस प्राणायाम को करना चाहिए |

2.सूर्य-नमस्कार (Surya Namaskar Asana in Hindi):-

इस आसन से हमारी पूरी Body की exercise हो जाती है अत: इस आसन को योग असनो का राजा भी कहा जाता है | यह आसन 12 steps मे होता है | जिससे बहुत तेज़ी से मोटापा कम होता है | Image source:https://vedicambassador.wordpress.com

इस आसन को करने का तरीका इस   Youtube video मे देखे |

सूर्य-नमस्कार करने के लाभ :-

शरीर को लचीला और फुर्तीला बनाता है | मानसिक शांति प्रदान करता है | शरीर मे blood का सर्कुलेशन एकदम अच्छा कर देता है | बालो का झड़ना और सफ़ेद होना रुक जाता है |

सूर्य-नमस्कार करते समय कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए :-

A. HIGH & LOW BP ,हर्निया , हृदय रोग और BACK pain रोगी को इस आसन को नहीं करना चाहिए |                                                  

B. महिलाओं को मासिक धर्म (PERIOD) और गर्भावस्था के 4 महीने बाद तक सूर्य-नमस्कार नहीं.करना चाहिए |

3. त्रिकोणासन (TRIANGLE POSE IN HINDI):-

इस आसन मे शरीर को त्रिभुज की तरह त्रिकोण आकृति मे बनाया जाता है इसलिए इस आसन को ‘त्रिकोणासन’ कहा जाता है | इस आसन को करने के लिए सर्व प्रथम सीधे खड़े हो जाए  और अपने पैरों की बीच 2 से 3 फ़ीट का फासला बना ले | अब श्वांस छोड़ते हुए कमर को आगे की तरफ झुकाते हुए दायें हाथ को बायें  पैर से छुए और बायें हाथ को सीधा ऊपर की तरफ ले जाए और इसी स्थिति मे ऊपर की तरफ बायें हाथ के समानान्तर देखे 5 सेकंड तक HOLD करे और  श्वांस लेते हुए पुनः सीधे खड़े हो जाये | अब फिर से श्वांस छोड़ते हुए कमर को आगे की तरफ झुकाते हुए बायें हाथ को दायें पैर से छुए और दायें हाथ को सीधा ऊपर की तरफ ले जाए और इसी स्थिति मे ऊपर की तरफ दायें हाथ के समानान्तर देखे 5 सेकंड तक HOLD करे और  श्वांस लेते हुए पुनः सीधे खड़े हो | इस प्रकार इस प्रक्रिया को 10 बार करे |Image source :www.beyogi.com

इस प्राणयाम को करने की विधि को आप हमारे इस   youtube video  मे देख सकते है |

 

त्रिकोणासन के लाभ :-

A. वजन और चर्बी कम करने के लिए सबसे उपुक्त आसन है |

B. कमर और जाँघ के फैट को कम करता और SHAPE मे लाता है |

C. स्टैमिना को बढ़ाने के लिए और एसिडिटी को  कमकरता है |

 

त्रिकोणासन करते समय निम्न सावधानियां रखनी चाहिए :-

A. स्लिप डिस्क और माइग्रेन से पीड़ित को त्रिकोणासन नहीं करना चाहिए |

B. गर्दन और पीठ मे दर्द होने पर इस आसन को नहीं करना चाहिए |

 

इस प्रकार इन योगासन का नियमित अभ्यास करके तुरन्त मोटापा कम किया जा सकता है | अगर आप किसी भी प्रकार के योग और हेल्थ सम्बंधित कोई भी जानकारी या सुझाव लेना चाहते है तो आप कमेंट बॉक्स मे comments kar सकते है या फिर हमारी मे id anilchandramola1986@gmail.com पर send कर सकते है |

धन्यवाद |

 

3 thoughts to “Yoga for Weight Loss in Hindi – योग द्वारा मोटापा कम करे |

  • rakesh

    Nice article ….for weight loss

    Reply
  • sanjay tiwari

    Very use full information to control obesity in very easy way

    Reply
    • Anil Ramola

      Thanks for comments….we are coming soon with more health article…

      Reply

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *