सफेद बालों से पाए तुरन्त छुटकारा , बाल काले करने के इन नेचुरल तरीकों से |baal kale karne ka tarika

दोस्तों, किसी जमाने में बाल सफ़ेद होना अधिक उम्र का होना और अनुभव की पहचान थी | पर आज के समय मे बाल कम उम्र मे ही सफेद होना एक आप समस्या की बात हो गई है। बदलता दूषित वातावरण, अनियमित खानपान और अनियमित दिनचर्या कम उम्र मे ही बाल सफेद होने के प्रमुख कारणों में से एक है।

baal safed q hote hai

Image source- Hindi Bolegi You Tube channel

आज इस लेख से बाल सफेद होने की समस्या और बाल काले करने का नेचुरल तरीकों की विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे | पर इसके लिए आप को लेख के अंत तक बने रहना होगा | तो, आईए विषय सूची के इन क्रमबद्ध बिन्दुओं से सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने की सफल कोशिश करते है।

विषय सूची :-

  1. बाल सफ़ेद क्यों होते है। (baal safed q hote hai)
  2. बाल काले करने का नेचुरल तरीका (baal kale karne ka tarika)
  3. बाल काले करने का शैम्पू (baal kale karne ka shampoo)
  4. बाल काले करने का आयल (baal kale karne ka oil)
  5. सफेद बालों को काला करने की होम्योपैथिक दवा (homeopathic safed balo ka ilaj)
  6. बाल काले करने का योग (baal kale karne ke liye yoga)

बाल सफ़ेद क्यों होते है। (baal safed q hote hai)

हमारे बाल कैरोटीन प्रोटीन और मिलेनिन रंगद्रव्य/पिगमेंट (Melanin pigment) से बने होते है। बालों की बाहरी सतह कैरोटीन प्रोटीन से और आंतरिक सतह मेलानिन रंगद्रव्य से बनी होती है। मिलेनिन रंगद्रव्य हमारे बालों को काला रंग प्रदान करता है। और हमारे शरीर में यह मिलेनिन पिगमेंट, टाइरोसिन (Tyrosine) अमिनो अम्ल से बनता है।

सफेद बाल काले कैसे करें

Image source- Hindi Bolegi You Tube channel

जब शरीर में प्रोटीन, विटामिन्स C&B12 और मिनरल्स तत्वों की कमी होती है तो मेलानिन पिगमेंट का बनना कम या फिर बंद हो जाता है। जिससे बालों का रंग धीरे-धीरे सफ़ेद होना शुरू हो जाता है।

मिलेनिन पिगमेंट, यूमेलेनिन (eumelanin) और फ़ेओमेलानिन (pheomelanin) पिगमेंट से बना होता है। अगर यूमेलेनिन (eumelanin) ज्यादा सक्रीय है तो बालों का रंग काला या गहरा भूरा रंग होता है जैसे- एशिया मूल के लोगों के बालो का काला रंग | ठीक वहीं अगर फ़ेओमेलानिन (pheomelanin) ज्यादा सक्रीय है तो बालों का रंग सफेद या हल्का पीला होता है जैसे- यूरोपियन देशो के लोगों के बालों का रंग सफ़ेद |

आनुवांशिक कारणों की वजह से कम उम्र में बाल सफेद होना एक आम बात है।

बालों में तेल ना लगाना | बार-बार केमिकल युक्त शैम्पू और कलर डाई का बदलना बाल सफेद होने का सबसे बड़ा कारण है।

लम्बे समय तक की बिमारी जैसे टाइफाइड, शुगर, थाइरोइड आदि में भी बाल सफ़ेद होना शुरू हो जाते है।

प्रदूषित वातावरण, अत्यधिक तनाव (स्ट्रेस), जंक फ़ूड, ऑयली फ़ूड और शराब सिगरेट का सेवन कम उम्र में बाल सफेद होने के प्रमुख कारण है।

बाल काले करने का नेचुरल तरीका (baal kale karne ka tarika)

हमे यह समझना होगा की बढ़ती उम्र की वजह से जो बाद सफेद हो चुके है उन्हें फिर से काला करना संभव नहीं है पर बाल काले करने के नेचुरल तरीकों से कम उम्र में बालों को सफेद होने से बचाया जा सकता है। तो, आईए बाल काले करने के घेरलू नुस्खे जानने की सफ़ल कोशिश करते है।

1. पालक, धनिया और शहद का मिश्रण :- बाल काले करने का नेचुरल तरीका

1 kg पालक और ½ kg धनिया के पत्तो को छोटा-छोटा काट ले | अब इन पत्तो को 4 लीटर पीने के पानी मे डालकर कर तब तक गर्म करे, जब तक पानी 2 लीटर रह जाए | अब इस पानी को छान कर कांच की बोतल में फ्रीज़ मे स्टोर कर ले | और रोज सुबह ब्रश करने के बाद एक गिलास पानी में एक चमच्च शहद मिलाकर पीने से शरीर बहुत अच्छे से डेटोक्स होता है। जो को मेलानिन पिगमेंट को बढ़ाने में बहुत लाभकारी है।

2. हल्की धुप का सेवन :- बाल काले करने का नेचुरल तरीका

सप्ताह में 3 बार सुबह के समय हल्की धूप में बालों की सरसों के तेल से मालिश करने से बालों की जड़ो को बहुत पोषण मिलता है जिससे मेलानिन पिगमेंट प्रचुर मात्रा मे बनने से बालों रंग काला और चमकदार हो जाता है।

3. आवंला और मेथी दाने से बालों का पोषण :- आवंला और मेथी विटामिन और मिनरल्स के अच्छे श्रोत है अत: एक कटोरी सरसों के तेल में 5 से 6 आवंले के पीस और एक चमच्च मेथी का पाउडर डालकर ख़ूब गर्म कर ठंडा कर ले | अब इस मिश्रण को बालों और स्कैल्प पर रात के समय लगा ले | और सुबह के समय हर्बल शैम्पू और ठंडे पानी से धो ले |

4. कच्चे दूध से बाल धोए :- कच्चे दूध मे फाइबर और वसा की प्रचुर मात्रा होती है सप्ताह में एक बार पानी में कच्चा दूध मिलाकर बालों को धोने से बाल काले और मुलायाम होते है। साथ ही यह उपाय सफेद बालों से तुरन्त छुटकारा दिलाता है।

5. प्याज़ और नींबू के रस से मालिश :- प्याज़ और नींबू के रस से बालों की मालिश करना बाल काले करने का नेचुरल तरीका (baal kale karne ka tarika) है।

6. आलू के छिलके का उपयोग :- आलू के छिलके में स्टार्च की प्रचुर मात्रा होती है जो की स्कैल्प से अतिरिक्त आयल को सोखता है। जिससे डैंड्रफ और बाल सफेद होने की समस्या नहीं होती है। आलू के छिलकों गर्म पानी मे 15 मिनट तक उबाल कर इस पानी को छान ले और ठंडा होने दे | अब इस पानी से बालों और स्कैल्प पर लगाकर छोड़ दे | और 1 घंटे बाद ठंडे पानी से धो ले | बाल काले करने का यह उत्तम घेरलू नुस्खा (baal kale karne ke gharelu nuskhe) है।

बाल काले करने का शैम्पू (baal kale karne ka shampoo)

हमने देखा की हम कोई भी बाल काले करने का उपाय करे उसमें अंत में हमें बालों को शैम्पू से ज़रूर धोना पड़ता है। इसलिए बालों के हिसाब से एक उचित शैम्पू का चयन करना अत्यन्त आवश्यक है। तो, आईए लगे हाथ आपके सफ़ेद बालों को काला करने वाले शैम्पू का चयन कर भारी डिस्काउंट में amazon.in से घर बैठे आर्डर करते है।

(A).  L’Oreal Paris Serie Expert Magnesium Silver Neutralising Hair Shampoo :-

Buy from Amazon

इस शैम्पू में मैग्नीशियम और एंटी-यल्लोइंग तत्व प्रचुर मात्रा में होने के वजह से यह बालों का नेचुरल काला रंग करने का गुण रखता है।

(B).  AVEDA by Aveda: Blue Malva Color Shampoo :-

यह एक बाल काले करने का आर्गेनिक शैम्पू है जो सफेद बालों के उगने की दर को कम करता है। इस शैम्पू का मूल्य ज़रूर ज्यादा है पर यह एक बाल काले करने का असरदार शैम्पू है।

(C). Clairol Shimmer Lights Blonde and Silver Shampoo :-

इस शैम्पू में प्रोटीन तत्व की प्रचुर मात्रा होने के वजह से बालों की जड़ो का अच्छे से पोषण करता है। जिससे मिलेनिन पिगमेंट सक्रीय होने से कम उम्र में सफेद हुए बाल फिर से काले होना शुरू हो जाते है।

(D). Jhirmack Silver Plus Shampoo Ageless :-

इस बाल काले करने का शैम्पू में एंटी-एजिंग गुण होने से समय से पहले ही बालों के एजिंग को कंट्रोल करता है। और बालों के सफेदपन और पीलेपन को बेअसर करके बालों को मुलायम बनाता है।

(E).  Matrix Total Results :-

यह शैम्पू बालों और स्कैल्प को मजबूत बनाता है। रुखे और बेजान सफेद बालों को काला करने में यह बहुत ही कारागार है।

(F).  Dove Intense Repair Shampoo For Damaged Hair :-

इस शैम्पू पैक में 8 से भी अधिक आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के गुण होते है जो कि आंतरिक क्षतिग्रस्त बालों की मरम्मत करता है।

बाल काले करने का आयल (baal kale karne ka oil)

बालों को एक अच्छे शैम्पू से धोने के बाद एक अच्छा हर्बल और आयुर्वेदिक बाल काले करने का आयल हमारे बालों की सुंदरता को चार-चाँद लगा सकता है। क्योंकि एक अच्छा हेयर आयल ही बाल काले करने का नेचुरल तरीका है।

1. Maxcare Virgin Coconut Oil :-

एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र आयल है जो ड्राई हेयर के लिए बहुत ही उत्तम है। इस तेल से नहाने से 1 घंटा पहले बालों की अच्छे से मालिश कर ले | आप के बाल कुदरती रूप से काले और चमकदार हो जाएंगे |

2. Jamaican Black castor Oil :-

जमैका काले अरंडी के तेल के जीवाणुरोधी और मॉइस्चराइजिंग गुण बालों की रुखेपन और सफेद होने की समस्या को दूर करने में कारागार है।

3. Wow Black Seed Onion Hair Oil :-

यह एक नॉन-स्टिकी, नॉन-ग्रीसी हेयर ऑयल है जिसका उपयोग किसी भी प्रकार के बालों पर किया जा सकता है, यह घुंघराले, सीधे, मोटे, पतले, महीन, सफ़ेद रंग के बालों के उपचार में उपयोग होता है।

4. Wells Almond Oil :-

बाल काले करने का यह आयल बालों को स्मूथ बनाता है, बालों के झड़ने को नियंत्रित करता है और बालों को लंबा, काला और घना बनाता है।

5. Organic Extra Virgin Cold Pressed Olive Oil :-

जैतून के तेल में मॉइस्चराइजिंग गुण हैं। क्षतिग्रस्त, सुस्त, शुष्क, रुसीदार या घुंघराले बालों की देखभाल के लिए जैतून का तेल रामबाण उपाय है।

सफेद बालों को काला करने की होम्योपैथिक दवा (homeopathic safed balo ka ilaj)

कम उम्र सफ़ेद हुए बालों (Premature white & Grey hairs) का होम्योपैथिक दवा से इलाज़ संभव है। होम्योपैथिक दवा का असर 6 महीनें से 1 साल के समय के बाद दिखना शुरू होता है। पर सफेद बालों को काला करने की दवा के रूप में होम्योपैथिक दवा सबसे उत्तम उपाय है।

(i).  थायराइडिनम-200 (Thyroidinum 200) होम्योपैथिक दवा :-  इस होम्योपैथिक दवा को सप्ताह में एक बार लेना होता है।

(ii). एसिडम फास्फोरिकम (Acidum phosphoricum) होम्योपैथिक दवा :- यह होम्योपैथिक दवा शरीर में ऊर्जा का स्तर बढ़ाती है। जिससे बालों और स्कैल्प को पोषण मिलता है। ½ कप पानी मे एसिडम फास्फोरिकम की 20 बूंदे डालनी है और दिन में 3 बार इसे लेने से सफेद बालों से छुटकारा पाया (white hair treatment in hindi) जा सकता है।

(iii). एसिड फॉस्फोरिकम 200 (Acid phosphoricum 200) होम्योपैथिक दवा:- इस होम्योपैथिक दवा की दो बूंद दिन में 2 बार लेनी होती है। और यह दवा लम्बे समय तक सफेद बालों को काला करने की होम्योपैथिक दवा के रूप में बहुत प्रचलित है।

(iv). वायसबडेन 30 (Wiesbaden 30) होम्योपैथी दवा:- यह होम्योपैथी दवा नए काले बाल उगाने मे बहुत ही कारागार है इसे भी डॉक्टर दिन में 2 से 3 बार लेने की सलाह देते है।

(v). जाबोरंदी Φ (Jaborandi Φ) होम्योपैथी दवा :- यह बालों पर लगाने की होम्योपैथी दवा है। रात के समय इस दवा से बालों की मालिश करे और सुबह बालों को पानी से धो ले | बाल काले करने (baal kale karne ka tarika) यह सबसे आसान और कारागार होम्योपैथिक तरीका है।

इस प्रकार सफेद बालों को काला करने की होम्योपैथिक दवा बहुत ही कारागार और नेचुरल है। पर आपको हमेशा एक अच्छे अनुभवी होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह और दिशा-निर्देशनुसार ही होम्योपैथिक दवाओं को लेना चाहिए क्योंकि हर किसी व्यक्ति बालों की समस्या अलग-अलग प्रकार की होती है।

बाल काले करने का योग (baal kale karne ke liye yoga)

योग व्यायाम से बालों और स्कैल्प में रक्त का सचंरण बहुत ही अच्छा होता है। जिससे बालों का पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में मिलते है जिससे बालों का कालापन दिन दुगना और रात चौगुना होता है। बाल काले करने के 2 महत्वपूर्ण आसन निम्नलिखित है।

1. सर्वांगासन :- सर्वांगासन मे पैर ऊपर की तरफ होने की वजह से गुरुत्वाकर्षण के कारण रक्त का flow विपरीत दिशा मे पैरों से मस्तिष्क की ओर अच्छा होता हैं। जिससे से दिमाग को अच्छा पोषण मिलता हैं।

2. शीर्षासन :- यह आसन भी सिर में रक्त का परिसंचरण में सुधार करता हैं। गर्दन की मांसपेशियों को मजबूत करता हैं।

योग के बारे में विस्तार से जानने के लिए इस ब्लॉग को भी ज़रूर पढ़े :- योग कैसे करते है ?

दोस्तों, इस प्रकार हमने इस लेख में समझा कि सफेद बाल काले कैसे करें और बाल काले करने का नेचुरल तरीकों को रोजमर्रा की जिंदगी में कैसे उपयोग करे | आशा करते है की ब्लॉग से आपने बाल काले करने और बालों की देखभाल करने की बहुत अच्छी जानकारी प्राप्त की होगी |

यह भी ज़रूर पढ़े |

  1. बाल बढ़ाना हुआ अब और भी आसान |
  2. हेल्थ केयर टिप्स इन हिंदी |

Blog by :- Anil Ramola

1 thought on “सफेद बालों से पाए तुरन्त छुटकारा , बाल काले करने के इन नेचुरल तरीकों से |baal kale karne ka tarika

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *