FitYog

घुटनों के दर्द से पाए अब तुरन्त छुटकारा | Jodo aur Ghutno ka dard ka ilaj |

घुटनों का दर्द (ghutno ka dard) एक आम शिकायत है जो सभी उम्र के लोगों को प्रभावित करता है। आप को यह जानकर हैरानी होगी की सिर्फ भारत मे ही 15 करोड़ लोगों को जोड़ो और घुटनों का दर्द (ghutno ka dard) की समस्या है। और उसमे से भी 4 करोड़ लोगों को हर साल घुटनों का ट्रांसप्लांट कराना पड़ता है।

घुटने का दर्द एक ताज़ा या पूरानी चोट का परिणाम हो सकता है। जिसकी वजह से लिगामेंट टूटने ,गठिया, और संक्रमण होने की सम्भावना रहती है।

दोस्तों, आज इस लेख मे हम जोड़ो और घुटने के दर्द से संबंधित सभी बातोँ पर फ़ोकस करेंगे | जानकारी के लिए ब्लॉग को अंत तक ज़रूर पढ़े |

टेबल कंटेंट (विषय सूचि) :-

  1. घुटनों का दर्द क्या है (ghutno ka dard)
  2. घुटनों और जोड़ों का दर्द के कारण (joint and knee pain in hindi)
  3. जोड़ों और घुटनों के दर्द का इलाज (ghutno ke dard ka ilaj)

घुटनों का दर्द क्या है (ghutno ka dard):-

हमारा शरीर 206 हड्डीयों से बना होता है और हर एक हड्डी दूसरी हड्डी से एक जॉइंट से जुडी रहती है। और इस जॉइंट की बीच मे एक गैप होता जिसके बीच मे सिनोविअल (Synovial fluid) एक चिपचिपा, गैर-न्यूटोनियन द्रव होता है जो की लुब्रीकेंट्स (चिकनाई) का काम करता है जो की कभी-भी दो हड्डीयों को एक दुसरे से रगड़ (घर्षण) नहीं करने देता है। पर जब यह लुब्रीकेंट्स (ग्रीस) की मात्रा कम या खत्म हो जाती है तो हड्डियाँ आपस मे रगड़ खाना शुरू कर देती है जिससे घुटने और जांघ की हड्डी दबी सी महसूस होती है और दर्द शुरू होता है। इस दर्द को ही जोड़ो या घुटनों का दर्द (ghutno ka dard) कहते है।

घुटनों और जोड़ों का दर्द के कारण (joint and knee pain in hindi):-

(i). अधिक उम्र के लोगों मे घुटनों का दर्द गठिया रोग़ (arthritis) की वजह से होता है

(ii). कौनड्रोमालेकिया पटेला (Chondromalacia patella) घुटनों के दर्द का प्रमुख कारण है। पटेला, घुटने और जांघ (फीमर) की हड्डी का कवर होता है। पटेला की पोजीशन बिगड़ने से  बार-बार उठने या बैठने पर पटेला जांघ की हड्डी (फीमर हड्डी) और घुटने से रगड़ (घर्षण) करता है।

जिससे घुटने की दीवारों पर दरारे पड़ जाती है। जिसकी वजह से घुटने और जांघ का जॉइंट की सतह नरम पड़ जाती है। और घुटनों का दर्द (ghutno ka dard) महसूस होता है।

(iii). बहुत ज्यादा सीढ़िया चढ़ना ,लम्बे समय तक गलत तरीके से आलती-पालती मारकर बैठने, या गलत तरीके की एक्सरसाइज करने से भी जोड़ो और घुटनों का दर्द (jodo ka dard) शुरू हो जाता है।

(iv). कैल्शियम और विदामिन-डी 3 की कमी से भी घुटनों का दर्द (ghutno ka dard) होता है।

(v). ताज़ा या पुराना फ्रैक्चर की वजह से भी हड्डियाँ कमजोर हो जाती है और जोड़ों के दर्द (jodo ka dard) का कारण बनती है।

(vi). अधिक मोटापा और अधिक खट्टे फलों का सेवन knee pain का सबसे बड़ा कारण है।

दोस्तों, घुटनों या जोड़ो के दर्द होने पर ज्यादा चिंता करने की आवश्यकता नहीं है बस थोड़ी सी सावधानी से घुटनों के दर्द का इलाज किया जा सकता है। तो आईए, विस्तार से इन उपायों को जानने की एक सफ़ल कोशिश करते है।

ज़रूर पढ़े :- पेट और कमर की चर्बी कम करने के उपाय  

जोड़ों और घुटनों के दर्द का इलाज (ghutno ke dard ka ilaj) :-

  1. घुटनों के दर्द की एक्सरसाइज (ghutno ki exercise):-


इसे पढ़ना भी ना भूले :- हाई ब्लड प्रेशर को तुरंत कंट्रोल कैसे करे

  1. घुटने की ग्रीस का इलाज (ghutno ki greece ka ilaj) :-
  1. घुटने का दर्द उपाय पतंजलि दवा (ghutno ka dard patanjali medicine)
  1. जोड़ो और घुटने का दर्द का होम्योपैथी उपाय :-

दोस्तों, आशा करते है की आप को जोड़ो और घुटनों के दर्द के कारण और उपाय के बारे मे विस्तार से जानकारी प्राप्त हुई | पर ध्यान रहे घुटनों के इलाज़ मे हमें कोई लापरवाही नहीं करनी है बस थोड़ी सी जागरूकता और एक अच्छे फ़िजोयो-थेरपिस्ट से परामर्श ज़रूर करना है।

अगर डायबिटीज और थायराइड की समस्या है तो निम्नलिखित ब्लॉग भी ज़रूर पढ़े |

  1. शुगर के लक्षणों को अनदेखा करने की भूल ना करे |
  2. थायराइड का आयुर्वेदिक उपचार पतंजलि |

ब्लॉग राइटर :- अनिल रमोला

Exit mobile version